पोस्ट न. : 716 34 हिट

उस्मान ताहा रस्मुल ख़त (लिपि) वाले क़ुरान का क्या मतलब है?

उस्मान ताहा रस्मुल ख़त (लिपि) वाले क़ुरान का क्या मतलब है?

जवाब 

बिस्मिल्लाहिर रहमानिर रहीम 

उस्मान ताहा एक ख़त्तात का नाम है, उनका पूरा नाम अबू मरवान उस्मान बिन अब्दोह बिन हुसैन बिन ताहा है, 1934 ई. में सीरिया के मशहूर शहर हलब में पैदा हुए और एक लम्बे समय तक मदीने में रहे, उनकी ख़त्ताती अपने अलग अन्दाज़ की वजह से बहुत मक़बूल है और आज ज़्यादातर मुल्कों में उन्ही के ख़त में क़ुरान छपता है, हालाँकि हिंदुस्तान पाकिस्तान में उनका ख़त ज़्यादा मक़बूल नहीं हो सका क्योंकि यहाँ के लोग एक ख़ास रस्मुल ख़त (लिपि) के आदी हैं, जिसमे उन्होंने क़ुरान पढ़ना सीखा है, इसलिए यहाँ के लोगों को उस्मान ताहा के ख़त को पढ़ने में दुश्वारी होती है इसलिए यहाँ से छपने वाला क़ुरान अक्सर और ज़्यादातर उस्मान ताहा की लिपि में नहीं होता. 


अगर आप हमारे जवाब से संतुष्ट हैंं तो कृप्या लाइक कीजिए।
2
شیئر کیجئے